sankat mochan hanuman ashtak

Sankat Mochan Hanuman Ashtak संकट मोचन हनुमान अष्टक

संकट मोचन हनुमान अष्टक | Sankat Mochan Hanuman Ashtak हनुमान जी का एक महामंत्र है. जो कोई भी सच्चे ह्रदय से हनुमान जी के संकट मोचन हनुमान अष्टक का पाठ करता है. उस भक्त की समस्त संकटों से रक्षा हनुमान जी स्वयं करते हैं.

To get Sankat Mochan Hanuman Ashtak English Lyrics click the link below.

संकट मोचन हनुमान अष्टक इंग्लिश लिरिक्स को देखने के लिए निचे क्लिक करें.

English Lyrics

आप इसे डाउनलोड करके रख सकतें हैं. और इसका नियमित पाठ कर सकतें हैं. डाउनलोड लिंक पोस्ट के अंत में दिया गया है.

इस अंक में हनुमान अष्टक ( Sankat Mochan Hanuman Ashtak ) के पाठ करने की विधि दी गयी है. जिससे आपकी रक्षा स्वयं हनुमान जी करेंगे.

Sankat Mochan Hanuman Ashtak

sankat mochan hanuman ashtak

|| संकट मोचन हनुमान अष्टक ||

Sankat Mochan Hanuman Ashtak Video

बाल समय रवि भक्षी लियो तब,
तीनहुं लोक भयो अंधियारों।

ताहि सों त्रास भयो जग को,
यह संकट काहु सों जात न टारो।

देवन आनि करी बिनती तब,
छाड़ी दियो रवि कष्ट निवारो।

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

बालि की त्रास कपीस बसैं गिरि,
जात महाप्रभु पंथ निहारो।

चौंकि महामुनि साप दियो तब,
चाहिए कौन बिचार बिचारो।

कैद्विज रूप लिवाय महाप्रभु,
सो तुम दास के सोक निवारो ॥

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

अंगद के संग लेन गए सिय,
खोज कपीस यह बैन उचारो।

जीवत ना बचिहौ हम सो जु,
बिना सुधि लाये इहाँ पगु धारो।

हेरी थके तट सिन्धु सबे तब,
लाए सिया-सुधि प्राण उबारो ॥

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

रावण त्रास दई सिय को सब,
राक्षसी सों कही सोक निवारो।

ताहि समय हनुमान महाप्रभु,
जाए महा रजनीचर मारो।

चाहत सीय असोक सों आगि सु,
दै प्रभुमुद्रिका सोक निवारो ॥

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

बान लाग्यो उर लछिमन के तब,
प्राण तजे सूत रावन मारो।

लै गृह बैद्य सुषेन समेत,
तबै गिरि द्रोण सु बीर उपारो।

आनि सजीवन हाथ दिए तब,
लछिमन के तुम प्रान उबारो ॥

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

रावन जुध अजान कियो तब,
नाग कि फाँस सबै सिर डारो।

श्रीरघुनाथ समेत सबै दल,
मोह भयो यह संकट भारो ।

आनि खगेस तबै हनुमान जु,
बंधन काटि सुत्रास निवारो ॥

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

बंधू समेत जबै अहिरावन,
लै रघुनाथ पताल सिधारो।

देबिन्हीं पूजि भलि विधि सों बलि,
देउ सबै मिलि मन्त्र विचारो।

जाये सहाए भयो तब ही,
अहिरावन सैन्य समेत संहारो ॥

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

काज किये बड़ देवन के तुम,
बीर महाप्रभु देखि बिचारो।

कौन सो संकट मोर गरीब को,
जो तुमसे नहिं जात है टारो।

बेगि हरो हनुमान महाप्रभु,
जो कछु संकट होए हमारो ॥

को नहीं जानत है जग में कपि,
संकटमोचन नाम तिहारो ॥

॥ दोहा ॥

लाल देह लाली लसे,
अरु धरि लाल लंगूर।

वज्र देह दानव दलन,
जय जय जय कपि सूर ॥

||सिया वर राम चन्द्र की जय, पवन सूत हनुमान की जय ||

संकट मोचन हनुमान अष्टक का पाठ कैसे करें?

bajrangbali hanuman

हनुमान जी के परम शक्तिशाली श्लोक संकट मोचन हनुमान अष्टक | Sankat Mochan Hanuman Ashtak का पाठ अगर प्रत्येक मंगलवार के दिन प्रातः काल स्नान आदि करके करें तो यह सर्वोत्तम होगा.

अपने मन को स्थिर करें. और अपना ध्यान महावीर हनुमान जी पर लगायें.

हनुमान जी को सिंदूर, पुष्प, अक्षत, नैवेद्द आदि अर्पित करें.

हनुमान अष्टक के पाठ करने के पश्चात हनुमान चालीसा का पाठ अवस्य करें.

Read Hanuman Chalisa Lyrics in Hindi

उसके पश्चात अंत में हनुमान जी की आरती करें.

Read Hanuman Ji Ki Aarti

Sankat Mochan Hanuman Ashtak Benefits

संकट मोचन हनुमान अष्टक | Sankat Mochan Hanuman Ashtak एक बहुत ही शक्तिशाली हनुमान जी का श्लोक है. इसके नियमानुसार पाठ करने से मनुष्य को बजरंगबली हनुमान जी की परम कृपा की प्राप्ति होती है.

इस श्लोक के जाप करने वाले शाधक पर सदा हनुमान जी की कृपा रहती है.

महावीर हनुमान जी उसकी सभी संकटों से रक्षा करतें हैं.

जैसा की इस श्लोक के नाम से ही पता चलता है की यह श्लोक संकटों से रक्षा करने वाला श्लोक है. इसलिए सम्पूर्ण श्रद्धा के साथ हनुमान जी के इस श्लोक संकट मोचन हनुमान अष्टक | Sankat Mochan Hanuman Ashtak का जाप करें. इससे हनुमान जी की कृपा आप पर बनी रहेगी. और हनुमान जी स्वयं आपकी सभी प्रकार के संकटों से रक्षा करेंगे.

Sankat Mochan Hanuman Ashtak Hindi Lyrics PDF Download

अगर आप संकट मोचन हनुमान अष्टक | Sankat Mochan Hanuman Ashtak को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करना चाहतें हैं. तो पोस्ट के अंत में डाउनलोड लिंक दिया गया है. वहाँ से आप इसे डाउनलोड कर सकतें हैं.

निवेदन

आप सब हनुमान जी के भक्तों से निवेदन है की कृपया हमें आप अपने सुझाव और सलाह कमेंट के माध्यम से अवस्य दें.

इस पोस्ट में अगर कहीं भी किसी भी प्रकार की त्रुटी हो या सुधार की जरुरत हो तो आप हमें निचे कमेंट बॉक्स में अवस्य लिखें. हम उसे अवस्य ठीक करेंगे.

हमारे अन्य प्रकाशनों को भी अवस्य देखें.

Know more about Lord Hanuman from Wikipedia

बजरंगबली हनुमान जी आप सभी की रक्षा करें.

|| जय श्री राम जय हनुमान ||

2 thoughts on “Sankat Mochan Hanuman Ashtak संकट मोचन हनुमान अष्टक”

Leave a Comment