श्री हनुमद् बीसा : हनुमानजी को प्रसन्न करने का एक सरल उपाय.DOWNLOAD

Hanuman Bisa

श्री हनुमद् बीसा 

20 चौपाई वाला हनुमद् बीसा हनुमान जी को प्रसन्न करने का एक बहुत ही सरल उपाय है. हनुमद् बिसा का पाठ अत्यंत सरल है. हनुमद् बीसा के पाठ से हनुमान जी प्रसन्न होतें हैं और अपने भक्त की सभी समस्यों का समाधान करतें हैं.
श्री हनुमद बीसा की रचना परम हनुमान भक्त श्री यशपाल जी ने की थी. यह एक बहुत ही विशिस्ट हनुमान चौपाई है. श्री हनुमद् बीसा अत्यंत सरल तरीके से रचित की गयी है. श्री हनुमद् बीसा का पाठ आसानी से और सरल तरीके से किया जा सकता है.
हनुमद् बीसा,हनुमान इमेज
जय हनुमान 

श्री हनुमद बीसा का पाठ कैसे करें?

बजरंगबली श्री हनुमान जी की उनके परम भक्त श्री यशपाल जी द्वारा रचित श्री हनुमद् बीसा एक पवित्र, सरल और अत्यंत प्रभावशाली मन्त्र है. इस श्री हनुमद बीसा का पाठ अत्यंत शुद्ध मन से और हनुमान जी पर पूरी श्रद्धा और बिस्वास के साथ करें तो हनुमान जी अवस्य प्रसन्न होंगे और अपने भक्त की सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करेंगे.
  • श्री हनुमद् बीसा का पाठ हनुमान भक्त कभी भी कर सकतें हैं.
  • मंगलवार और सनिवार का दिन श्री हनुमद् बीसा का पाठ करने के लिए अत्यंत शुभ होता है.
  • श्री हनुमद् बीसा का पाठ अगर लगातार 21 दिनों तक रोजाना 7 बार पुरे श्रद्धा और हनुमान जी पर अखंड बिस्वास बनाए रखते हुए किया जाए तो हनुमान भक्त की सभी मनोकामनाएं हनुमान जी पूर्ण करतें हैं.
  • श्री हनुमद् बीसा का पाठ करने से पूर्व स्नान करके खुद को शुद्ध कर लें.
  • उसके बाद किसी हनुमान प्रतिमा या तस्वीर के पास बैठकर पूरी श्रद्धा से हनुमान जी के इस हनुमान बीसा का पाठ करें.
  • हनुमान बीसा का पाठ करते समय हमेशा पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठें.
  • हनुमान जी को सिंदूर,लाल चन्दन और पुष्प से पूजा करें.
  • तत्पश्चात नैवेद्द का भोग लगायें.
  • अगर आप किसी हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान बीसा का पाठ करतें हैं तो यह बहुत ही शुभ फलदायक होता है.

हनुमान साठिका


हनुमद् बीसा, हनुमान इमेज

श्री हनुमान बीसा के फायदे.

श्री हनुमद् बीसा एक सिद्ध हनुमान जी की चौपाई है. यह एक सरल और आसानी से जाप करने योग्य प्रभावशाली चौपाई है. श्री हनुमद् बीसा में मात्र 20 चौपाई संकलित है.
  • श्री हनुमद् बीसा के पाठ से हनुमान जी प्रसन्न होकर अपने भक्त के सभी तरह के संकटों का समाधान करतें हैं.
  • श्री हनुमद् बीसा के पाठ से सभी तरह की नकारात्मक शक्तियों से भक्त का बचाव होता है.
  • श्री हनुमद बीसा के पाठ से हनुमान भक्त के ऊपर हमेशा हनुमान जी की कृपा दृष्टि बनी रहती है.
  • श्री हनुमद बीसा के पाठ से हनुमान भक्त की सभी मनोकामनाएं हनुमान जी पूर्ण करतें हैं.
  • श्री हनुमद् बीसा के पाठ से हनुमान भक्त के चारों ओर एक सकारात्मक उर्जा का प्रवाह हमेशा बना रहता है.
  • श्री हनुमद् बीसा के पाठ से सभी तरह की रोग और बिमारियों से शरीर की रक्षा होती है.
  • श्री हनुमद् बीसा के पाठ से घर में शुख-शान्ति आती है.
  • श्री हनुमद् बीसा के पाठ से हनुमान भक्त के समस्त भय का नाश हनुमान जी कर देतें हैं.
श्री हनुमद् बीसा के पाठ से अवस्य लाभ की प्राप्ति होती है. बस आपको हनुमान जी पर पूर्ण श्रद्धा और बिस्वास बनाए रखना है. सभी तरह के ब्यभिचार, छल-कपट आदि से बचे रहना है. अपना आचरण सदाचारी रखना है. तभी बजरंगबली हनुमान जी की कृपा दृष्टि आप पर पड़ेगी और आपकी सभी कष्ट और समस्याओं को हनुमान जी समाधान करेंगे.


हनुमान बीसा

श्री हनुमद् बीसा 

hanuman bisa hindi lyrics, hanuman gif

                                                                          || दोहा ||

राम भक्त विनती करूँ,सुन लो मेरी बात । 
दया करो कुछ मेहर उपाओ, सिर पर रखो हाथ ।। 

|| चौपाई ||

जय हनुमन्त, जय तेरा बीसा,कालनेमि को जैसे खींचा ।।१॥ 
करुणा पर दो कान हमारो,शत्रु हमारे तत्क्षण मारो ।।२॥ 
राम भक्त जय जय हनुमन्ता, लंका को थे किये विध्वंसा ।।३॥ 
सीता खोज खबर तुम लाए, अजर अमर के आशीष पाए ।।४॥ 
लक्ष्मण प्राण विधाता हो तुम,राम के अतिशय पासा हो तुम ।।५॥ 
जिस पर होते तुम अनुकूला, वह रहता पतझड़ में फूला ।।६॥ 
राम भक्त तुम मेरी आशा, तुम्हें ध्याऊँ मैं दिन राता ।।७॥ 
आकर मेरे काज संवारो, शत्रु हमारे तत्क्षण मारो ।।८॥ 
तुम्हरी दया से हम चलते हैं, लोग न जाने क्यों जलते हैं ।।९॥ 
भक्त जनों के संकट टारे, राम द्वार के हो रखवारे ।।१०॥ 
मेरे संकट दूर हटा दो, द्विविधा मेरी तुरन्त मिटा दो ।।११॥ 
रुद्रावतार हो मेरे स्वामी, तुम्हरे जैसा कोई नाहीं ।।१२॥
ॐ हनु हनु हनुमन्त का बीसा, बैरिहु मारु जगत के ईशा ।।१३॥
तुम्हरो नाम जहाँ पढ़ जावे, बैरि व्याधि न नेरे आवे ।।१४॥
तुम्हरा नाम जगत सुखदाता, खुल जाता है राम दरवाजा ।।१५॥
संकट मोचन प्रभु हमारो, भूत प्रेत पिशाच को मारो ।।१६॥
अंजनी पुत्र नाम हनुमन्ता, सर्व जगत बजता है डंका ।।१७॥
सर्व व्याधि नष्ट जो जावे, हनुमद् बीसा जो कह पावे ।।१८॥
संकट एक न रहता उसको, हं हं हनुमंत कहता नर जो ।।१९॥
ह्रीं हनुमंते नमः जो कहता,उससे तो दुख दूर ही रहता ।।२०॥


|| दोहा ||

मेरे राम भक्त हनुमन्ता, कर दो बेड़ा पार ।
हूँ दीन मलीन कुलीन बड़ा, कर लो मुझे स्वीकार ।।
राम लषन सीता सहित, करो मेरा कल्याण ।
ताप हरो तुम मेरे स्वामी, बना रहे सम्मान ।।
प्रभु राम जी माता जानकी जी, सदा हों सहाई ।
संकट पड़ा यशपाल पे, तभी आवाज लगाई ।।

हनुमद् बीसा पीडीऍफ़ डाउनलोड

हनुमद् बीसा पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के लिए आप निचे दिए गए लिंक पर दबाएँ और सीधे अपने मोबाइल,टेबलेट, कंप्यूटर या लैपटॉप पे डाउनलोड कर लें.


हनुमान जी से सम्बंधित सामग्री


हनुमान जी सम्बंधित सामग्री आप अमेज़न से ऑनलाइन खरीद सकतें हैं. खरीदने के लिए आप निचे दिए गए लिंक पर दबाएँ.

Leave a Comment