Hanuman Chalisa Hindi

Hanuman Chalisa Hindi pdf download with beautiful Hanumn Images

हनुमान हवन !! सामग्री !! हवन विधि !! हनुमान हवन मन्त्र

Hanuman Havan

हनुमान हवन की सम्पूर्ण विधि मन्त्रों के साथ. हनुमान हवन, हनुमान हवन सामग्री, हनुमान हवन विधि, हनुमान हवन मन्त्र, हनुमान हवन से लाभ.
हनुमान हवन,
हनुमान जी 

हनुमान जी के हवन और नियमानुसार मन्त्रों का पाठ करने से हनुमान जी सभी संकटों, भय, और समस्याओं को दूर करतें हैं. हनुमान जी अपने भक्तों का हमेशा सभी तरह के संकटों से रक्षा करतें हैं.
हनुमान जी भगवान् शिव के ग्यारहवें रूद्र अवतार हैं. हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार वे अजर अमर हैं और सूक्ष्म रूप में इस धरा पर विचरण करतें रहतें हैं. वे भगवान् श्रीराम के अनन्य भक्त और सेवक हैं. ऐसी मान्यता है की जहाँ-जहाँ भगवान् राम का नाम  उच्चारण होता है, वहाँ-वहाँ वे अवस्य आतें हैं.
हमारे इस हनुमानजी के वेबसाइट में आपको हनुमान जी से संबंद्धित सभी मन्त्र और श्लोक मिल जायेंगे. इनमे हनुमान जी की बुलाने वाला सिद्ध मन्त्र भी शामिल है. इस मन्त्र का लिंक में अंत में दे दूंगा आप वहां से जाकर उस मन्त्र को पढ़ सकतें और साथ ही डाउनलोड भी कर सकतें हैं.


हनुमान हवन
हनुमान जी 

हनुमान हवन

आज मैं सभी हनुमान जी के भक्तों को हनुमान हवन के हनुमद्-अष्टोत्तरशतनामावली स्वाहाकार-विधि बताने जा रहा हूँ. इस हनुमान हवन विधि में भगवान् हनुमान जी के एक सौ आठ नामों द्वारा हवन किया जाता है.
हनुमान हवन करने से हनुमान जी अवस्य प्रसन्न होतें हैं. हनुमान हवन से घर की सभी नकारात्मक उर्जा नष्ट हो जाती है. हनुमान हवन से चारों ओर सकारात्मक उर्जा का प्रवाह होता है.
हनुमान हवन
हनुमान जी 

हनुमान हवन सामग्री


  1. हवनकुंड,
  2. तिल,
  3. अक्षत,
  4. जौ,
  5. शक्कर,
  6. बिल्वपत्र,
  7. गुड़,
  8. चन्दन,
  9. पलाश,
  10. लवंग,
  11. करवीरफल,
  12. नागवल्ली,
  13. शिवलिंगी,
  14. गडूची,
  15. शुद्ध घी आदि.

हनुमान हवन विधि

hanuman havan
हनुमान जी 

हनुमान हवन करने की हनुमद्-अष्टोत्तरशतनामावली स्वाहाकार-विधि बता रहा हूँ. यह हनुमान जी का हवन करने का एक आसान विधि है.
इस विधि से हनुमान हवन करने के लिए किसी आसन पर बैठ कर हवनकुंड में अग्नि प्रज्ज्वलित करें. उसके बाद ऊपर बताये गए सामग्री को शुद्ध घी मे मिलाकर हनुमान जी के प्रत्येक नाम का उच्चारण करते हुए प्रज्वलित अग्नि में आहुति प्रदान करें. हनुमान जी के 108 नामों की मन्त्र निचे दिया जा रहा है. इन मंत्रो को पढतें हुए प्रत्येक मन्त्र के बाद हवनकुंड में आहुति दें.

हनुमान हवन मन्त्र

hanuman havan
हनुमान जी

  1. ॐ आञ्जनेयाय स्वाहा |
  2. ॐ महावीराय स्वाहा |
  3. ॐ हनुमते स्वाहा |
  4. ॐ मारुतात्मजाय स्वाहा |
  5. ॐ तत्वज्ञानप्रदाय स्वाहा |
  6. ॐ सीतादेविमुद्राप्रदायकाय स्वाहा |
  7. ॐ अशोकवनिकाक्षेप्त्रे स्वाहा |
  8. ॐ सर्वमायाविभञ्ज्नाय स्वाहा |
  9. ॐ सर्वबन्धविमोक्त्रे स्वाहा |
  10. ॐ रक्षोविध्वंसकारका्य स्वाहा |
  11. ॐ परविद्धापरीहराय स्वाहा |
  12. ॐ परशौर्यविनाशाय स्वाहा |
  13. ॐ परयन्त्रनिराकत्रे स्वाहा |
  14. ॐ परयन्त्रप्रभेदका्य स्वाहा |
  15. ॐ सर्वग्रहविनाशिने स्वाहा |
  16. ॐ भीमसेनसहायकृते स्वाहा |
  17. ॐ सर्वदुःखहराय स्वाहा |
  18. ॐ सर्वलोकाचारिणे स्वाहा |
  19. ॐ मनोजवाय स्वाहा |
  20. ॐ पारिजातद्रुम-मूलवासाय स्वाहा |
  21. ॐ सर्वमन्त्रस्वरूपवते स्वाहा |
  22. ॐ सर्वयन्त्रस्वरूपिणे स्वाहा |
  23. ॐ सर्वयन्त्रात्मकाय स्वाहा |
  24. ॐ कपीश्वराय स्वाहा |
  25. ॐ महाकायाय स्वाहा |
  26. ॐ सर्वरोगहराय स्वाहा |
  27. ૐ प्रभवे स्वाहा |
  28. ॐ बल सिद्धिकराय स्वाहा |
  29. ॐ सर्वविद्धा संवित्प्रदायका्य स्वाहा |
  30. ॐ कपिसेेनानायका्य स्वाहा |
  31. ॐ भविष्यच्चतुराननाय स्वाहा |
  32. ॐ कुमार ब्रह्मचारिणे स्वाहा |
  33. ॐ रत्नकुण्डलदीप्तिमते स्वाहा |
  34. ॐ सच्चलद्वालसंत्रद्धरविमंडल-ग्रासोज्जवलाय स्वाहा |
  35. ॐ गन्धर्व-विद्धातत्वज्ञानाय स्वाहा |
  36. ॐ महाबल पराक्रमाय स्वाहा |
  37. ॐ काराग्रह विमोक्त्रे स्वाहा |
  38. ॐ श्रंृखला बन्धमोचकाय स्वाहा |
  39. ॐ सागरोद्धारका्य स्वाहा |
  40. ॐ प्राज्ञाय स्वाहा |
  41. ॐ रामदूताय स्वाहा |
  42. ॐ प्रजाभवते स्वाहा |
  43. ॐ वानराय स्वाहा |
  44. ॐ केशरिसुताय स्वाहा |
  45. ॐ सीताशोकनिवारणाय स्वाहा |
  46. ॐ  अञ्ज्ना गर्भसम्भूताय स्वाहा |
  47. ॐ बालार्कसद्रशाननाय स्वाहा |
  48. ॐ विभीषणप्रियकराय स्वाहा |
  49. ॐ दशग्रीवकुलान्तकाय स्वाहा |
  50. ॐ लक्ष्मणप्राणदात्रे स्वाहा |
  51. ॐ वज्रकायाय स्वाहा |
  52. ॐ महाद्धुत्ये स्वाहा |
  53. ॐ चिरञ्जिविने स्वाहा |
  54. ॐ रामभक्ताय स्वाहा |
  55. ॐ दैत्यकार्य-व्याघातकाय स्वाहा |
  56. ॐ यक्षहंत्रे स्वाहा |
  57. ॐ काञ्चनाभाय स्वाहा |
  58. ॐ पञ्चवक्त्राय स्वाहा |
  59. ॐ महातपसे स्वाहा |
  60. ॐ लंकिनीभञ्जनाय स्वाहा |
  61. ॐ श्रीमते स्वाहा |
  62. ॐ सिंहिकाप्राणभञ्जनाय स्वाहा |
  63. ॐ गन्धमादनशैलहस्ताय स्वाहा |
  64. ॐ लंकापुरविदाहकाय स्वाहा |
  65. ॐ सुग्रीवसचिवाय स्वाहा |
  66. ॐ धीराय स्वाहा |
  67. ॐ शौर्याय स्वाहा |
  68. ॐ दैत्यकुलान्तकाय स्वाहा |
  69. ॐ सुरार्चिताय स्वाहा |
  70. ॐ महातेजसे स्वाहा |
  71. ॐ रामचूड़ामणिप्रदाय स्वाहा |
  72. ॐ कामरुपिणे स्वाहा |
  73. ॐ पिङ्गलाक्षाय स्वाहा |
  74. ॐ वार्धिमैनाकपूजिताय स्वाहा |
  75. ॐ कर्पूरीकृतमार्तण्डमण्डलाय  स्वाहा |
  76. ॐ विजितेन्द्रियाय स्वाहा |
  77. ॐ रामसुग्रीवसन्धात्रे स्वाहा |
  78. ॐ महारावणमर्द्दनाय स्वाहा |
  79. ॐ स्फटिकभाय स्वाहा |
  80. ॐ वागधीशायनमः स्वाहा |
  81. ॐ नवव्याकृतिपण्डिताय स्वाहा |
  82. ॐ चतुर्बाहवे स्वाहा |
  83. ॐ दिनबन्धवे स्वाहा |
  84. ॐ महात्मने स्वाहा |
  85. ॐ भक्तवत्सलाय स्वाहा |
  86. ॐ सञ्ज्ीवनगदाखड्गने स्वाहा |
  87. ॐ शुचये स्वाहा |
  88. ॐ वागिम्ने स्वाहा |
  89. ॐ दृढव्रताय स्वाहा |
  90. ॐ कालनेमिप्रमथनाय स्वाहा |
  91. ॐ हरिमर्कटमर्कटाय स्वाहा |
  92. ॐ ध्वान्तध्वंसिने स्वाहा |
  93. ॐ शान्ताय स्वाहा |
  94. ॐ प्रसन्नात्मने स्वाहा |
  95. ॐ दशकण्ठमदसंह्रते स्वाहा |
  96. ॐ योगिने स्वाहा |
  97. ॐ रामगदालोलाय स्वाहा |
  98. ॐ सीतान्वेषणपण्डिताय स्वाहा |
  99. ॐ वज्रदंष्ट्राय स्वाहा |
  100. ॐ बज्रनखाय स्वाहा |
  101. ॐ रूद्रवीर्यसमुभ्दवाय स्वाहा |
  102. ॐ इन्द्रजीतप्रहारामोघ-ब्रह्मास्त्रनिवारकाय स्वाहा |
  103. ॐ पार्थध्वजाग्रसंवासिने स्वाहा |
  104. ॐ शरपञ््जरभेदकाय स्वाहा |
  105. ॐ दशवाहवे स्वाहा |
  106. ॐ लोकपूज्याय स्वाहा |
  107. ॐ जाम्बवान-प्रीतिवर्द्धनाय स्वाहा |
  108. ॐ सीतासहित-श्रीरामपाद-सेवा-धुरन्धराय स्वाहा |

हनुमान हवन से लाभ


हनुमान हवन
हनुमान जी 

हनुमान हवन हनुमान जी को प्रसन्न करने का एक सफल माध्यम है. हनुमान हवन आप अपने घर में भी कर सकतें हैं. 
  • हनुमान हवन से चारों ओर के वातावरण से नकारात्मक शक्तियों का नाश हो जाता है.
  • हनुमान हवन से सभी दिशाओं में सकारात्मक उर्जा का प्रवाह होता है.
  • हनुमान हवन से हनुमान जी की कृपा अपने भक्त पर बनी रहती है.
  • हनुमान हवन से हनुमान जी अपने भक्त के सभी संकटों का निवारण कर देतें हैं.
  • हनुमान हवन से सभी तरह के रोगों से मुक्ति मिलती है.
  • हनुमान हवन से शरीर निरोगी बनता है.
  • हनुमान हवन से हनुमान जी अपने भक्त के ऊपर आने वाले संकटों और कष्टों से रक्षा करतें हैं.
  • हनुमान हवन से घर में खुशहाली आती है.
  • हनुमान हवन से धन-सम्पति की बृद्धि होती है.
नोट : इस हनुमान हवन से संबंद्धित विधि और मंत्रो के प्रकाशन में सावधानी बरती गयी है फिर भी कोई त्रुटी रह गयी हो तो हम सभी हनुमान भक्तों से क्षमा प्रार्थी हैं. अगर आप हनुमान भक्त कोई सुझाव देना चाहतें हैं तो कमेंट बॉक्स में दें.
आप सबसे अनुरोध है की किसी पंडित से इस बारे में सुझाव ले लें.
हनुमान जी से सम्बंधित कोई सामग्री खरीदने के लिए निचे दिए गए लिंक पर दबाएँ.


हनुमान जी से सम्बंधित हमारे अन्य प्रकाशन जरुर देखें